राजधानी, शताब्दी व दूरंतों में और महंगा होगा सफर

नई दिल्ली। पिछले हफ्ते किरायों में बढ़ोतरी के बाद एक बार फिर रेल का सफर महंगा करने की तैयारी है। इस बार यह किराया वृद्धि सिर्फ राजधानी, शताब्दी और दूरंतों ट्रेनों में की जाएगी। इसके तहत खाने-पीने का शुल्क यानी कैटरिंग चार्ज 15 से 20 रुपये तक बढ़ाया जाएगा। इस बारे में निर्णय की प्रक्रिया से जुड़े रेलवे के एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी है। वैसे, रेलवे के लिए डीजल कीमतों में एकबारगी करीब दस रुपये की बढ़ोतरी के बाद से माना जा रहा है कि फिर से रेल किरायों में इजाफा हो सकता है।

इस अधिकारी ने कहा कि इस बढ़ोतरी का एलान जल्द किया जाएगा। जितना जल्दी ही संबंधित सॉफ्टवेयर अपडेट हो जाएगा, उतनी ही जल्दी ही इस शुल्क वृद्धि को लागू कर दिया जाएगा। इस वृद्धि के पीछे खाद्य तेलों और अन्य खाद्य सामग्री की बढ़ी लागतों को जिम्मेदार बताया जा रहा है।

खास बात यह है कि दस साल बाद 22 जनवरी को ही मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में खाने-पीने का शुल्क संशोधित किया गया था, मगर इसमें राजधानी, शताब्दी और दूरंतो को शामिल नहीं किया गया था। रेल मंत्रालय ने ट्रेनों में खाने-पीने के शुल्क और मेनू में बदलाव के लिए एक समिति का गठन किया था। इसी समिति की सिफारिशों के आधार पर शुल्क में बढ़ोतरी का फैसला लिया गया है।

सभी ट्रेनों में कैटरिंग सेवा सुधारने के लिए रेलवे ने कई कदमों की घोषणा की है। इनके तहत कोल्ड ड्रिंक और चॉकलेट जैसे उत्पादों को राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनों के मेनू से हटाया जाएगा, जबकि केवल उम्दा ब्रांडों के आइसक्रीम और दही को ही उपलब्ध कराया जाएगा।

Thursday the 18th. Affiliate Marketing. © janjgirlive.com
Copyright 2012

©